Seo Kya Hai | सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है | इसे कैसे करते है

SEO Kya Hai सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है | इसे कैसे करते है             नमस्कार दोस्तों आज के हम इस पोस्ट में देखेंगे SEO Kya  Hai इसके बारे में हम यह जानेंगे आज कि SEO Kya  Hai और हम SEO को किस प्रकार से कर सकते हैं। तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं SEO  के बारे में यह पोस्ट तो दोस्तों SEO का मतलब होता है, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन दोस्तों-दोस्तों जब भी हम गूगल में किसी भी Keyword को सर्च करते हैं। गूगल हमें उस बोर्ड की रिजल्ट्स तू करता है। तो यह पूरी प्रोसेस जिसके द्वारा गूगल हमें उस के सबसे अच्छे रिजल्ट्स उस Keyword रिलेटेड जो होते हैं वह हमें प्रदर्शित करता है। तो हम सीधे तौर पर कहें तो SEO हो यानी कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन ऐसी प्रोसेस है। जिसके द्वारा हम अपनी वेबसाइट को गूगल के किसी भी एक पर्टिकुलर KEYWORD पर रैंक कराते हैं इसे हम ऐसी यू कहते हैं ।

SEO Kya Hai कैसे होता है और SEO कितने प्रकार होते हैं

1 on page SEO

2 off page SEO

On Page SEO Kya Hai

ऑन पेज SEO Kya Hai जैसा कि हमें किसके नाम से समझ में आ रहा है, कि On Page SEO अर्थात हम इस प्रकार के SEO में अपने BLOG के बीच में स्वयं अपने कांटेक्ट के द्वारा एक स्पेसिफिक Kewword पर ऑप्टिमाइज्ड करते हैं, और उससे हम ऑन पेज ऑप्टिमाइजेशन कहते हैं। On Page SEO करने की कुछ बेसिक से टिप्स हैं जोकि निम्नलिखित हैं,

  1. सबसे पहले हमें एक KEYWORD सिलेक्ट करना होगा, जिसकी KEYWORD पर हम अपने ब्लॉग पोस्ट को रैंक कराना चाहते हैं। अब सबसे महत्त्वपूर्ण होता है, हमारे BLOG का CONTENT दोस्तों हमारा Content जितना अच्छा और जितना यूनिक दूसरों से होगा, हमारा BLOG गूगल में उतनी ही अच्छी RANKING पाएगा। क्योंकि हमें यह समझना होगा कि गूगल अपने यूजर्स को हमेशा एक बेस्ट रिजल्ट ही प्रदर्शित करना चाहेगा। इसीलिए हमें इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा, कि हमारा कांटेक्ट हमेशा बहुत ही अच्छा मीनिंग फुल और यूनिक हो यह पॉइंट सबसे महत्त्वपूर्ण है। 
  1. इसके बाद सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह है कि हमें गूगल में पहले से Ranked वेब साइट्स का CONTENT अपनी Website में कॉपी पेस्ट कभी भी नहीं करना है। नहीं तो हमें गूगल ब्लैक लिस्ट कर देगा, क्योंकि गूगल के पास वही CONTENT पहले से ही उपस्थित है, तो वह किसी और वेबसाइट को same CONTENT के साथ रैंकिंग नहीं देगा। 
  1. इसके बाद सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह है कि हमारे BLOG पोस्ट में कितने KEYWORD लिखे हैं। यदि हम गूगल में फर्स्ट पेज में रैंक होना चाहते हैं, तो हमें कम से कम 900 से 2000 बड़ों के मध्य अपना ब्लॉग पोस्ट लिखना होगा। 
  1. लैंग्वेज अर्थात भाषा हमें अपने ब्लॉग पोस्ट में हमेशा एक सरल और ऐसी भाषा का प्रयोग करना चाहिए। जिससे एक इंसान आसानी से समझ सके या यूं कहें कि हमें एक ही बात को घुमा फिरा कर नहीं कहना चाहिए। यह लिखना चाहिए यह पॉइंट बहुत ही आवश्यक है। 
  1. इसके बाद सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह है, कि हमें अपने कांटेक्ट की क्वालिटी को हमेशा अच्छा रखना चाहिए। अर्थात उसमें सभी प्रकार के टैगलाइंस हेडिंग्स h1 h2 H3 का सही ढंग से उपयोग करना चाहिए, और हमें कम से कम 70 से 80 शब्दों का पैरा लिखना चाहिए। इसके बाद हमें हमेशा पॉइंट्स को बुलेट या नंबर से सुसज्जित करना चाहिए।
  1. सबसे महत्त्वपूर्ण पॉइंट हमें अपने पोस्ट में सही भाषा अर्थात उस में लिखे हुए शब्दों की त्रुटियों और भाषा की व्याकरण पर विशेष ध्यान देना चाहिए। किस जगह पर हमें। या कोमा या स्क्रीन नेशन मार्ग या किसी भी तरह की का उपयोग करना है, यह हमें पूर्ण रूप से ध्यान देना चाहिए। 

हम On Page SEO में KEYWORD का प्रयोग कैसे करते हैं

दोस्तों हम की KEYWORD का प्रयोग अपने पोस्ट में किस प्रकार करते हैं। यह जानना बहुत ही ज़्यादा ज़रूरी है, क्योंकि यदि हम सिर्फ़ पोस्ट को लिख देंगे, और उसमें KEYWORD का यदि हम सही उपयोग नहीं करेंगे तुम गूगल को पता ही नहीं चलेगा कि हम किसकी KEYWORD को टारगेट करें हैं। जिस पर हमारी वेबसाइट कि इस पोस्ट को रैंक करना है इसीलिए, दोस्तों की KEYWORD का सही प्रयोग के बारे में जानना हमें बहुत ज़्यादा ज़रूरी है। 

  1. डेंसिटी जब हम किसी भी BLOG पोस्ट को लिखते हैं, तो हमें उस पोस्ट में KEYWORD की डेंसिटी का विशेष ध्यान रखना चाहिए। हमें अपने BLOG पोस्ट में अपने टारगेट KEYWORD को कम से कम 1% से 2.5 परसेंट के बीच में लिखना अथवा रिपीट करना ज़रूरी होता है। उदाहरण के लिए अगर हम देख हैं कि यदि हमने एक ब्लॉग पोस्ट लिखा है। जिसमें हमने लगभग 1000 शब्द लिखें तो हमें अपने टारगेट की हुए KEYWORD को अपने इस पोस्ट में कम से कम 10 से 25 बार प्रयोग करना है। इससे हमारे पोस्ट में KEYWORD की डेंसिटी अच्छी हो जाएगी। 
  1. हमें यह ध्यान रखना होगा कि हमारी टारगेट किए हुए KEYWORD को प्लेसमेंट अर्थात हमें उसका प्रयोग किस-किस जगह विशेष रूप से करना आवश्यक है। क्योंकि गूगल सबसे पहले इन्हीं पैसों को स्कैन करता है। और यदि हमारा टारगेट किया हुआ कि वह वहाँ पर उपस्थित होगा तो उसकी KEYWORD पर हमारी वेबसाइट रैंक होने की संभावना उतनी ही अधिक हो जाएगी तो चलिए दोस्तों जानते हैं। किन-किन जगह में हमें अपने KEYWORD को Paste  करना चाहिए। 
    1. heading  दोस्तों जब भी हम ब्लॉग लिखे हैं उसकी हैडिंग मैं हमेशा अपनी KEYWORD को  अवश्य लिखे। क्योंकि जब भी गूगल किसी BLOG को रीड करता है, तो सबसे पहले उसकी हैडिंग कोई रीड करता है। इसीलिए उस हेडिंग में अगर हम अपना टारगेटेड KEYWORD लिख देंगे, तो उसकी KEYWORD पर हमारी वेबसाइट रैंक होने की संभावना अधिक हो जाएगी।
  1. फर्स्ट लाइन जब भी हम BLOG को लिखना शुरू करते हैं, तो हमारी पहली लाइन मैं हमें हमेशा अपनी तारीफ किए हुए हैं। KEYWORD को लिखना चाहिए। और अपने टारगेट कि वे KEYWORD की लगभग सबसे महत्त्वपूर्ण जानकारी हमें अपनी पहली पैराग्राफ में क्लीयरली लिखनी चाहिए। इससे गूगल को हमारे टारगेट किए हुए KEYWORD के बारे में पता चल जाता है। और हमारी उसकी बर्ड पर रंग करने की संभावना बढ़ जाती है।

3.पैराग्राफ्स में है हमें लगभग एक बार अपने KEYWORD को ज़रूर लिखना चाहिए। हाँ हमें यह ध्यान देना चाहिए हर पैराग्राफ में हो सके तो एक बार अपने KEYWORD का प्रयोग करना चाहिए, परंतु यदि किसी एक पैराग्राफ में आप ना कर सके तो अगले पैराग्राफ में अवश्य अपने की KEYWORD का प्रयोग करें, और सबसे महत्त्वपूर्ण बात यदि आपने KEYWORD का प्रयोग नहीं कर पा रहे हैं, तो जितना हो सके उसके सिनोन्यम समानार्थी या उसी के मिलते जुलते शब्दों का प्रयोग अवश्य करें इससे आपके BLOG की क्वालिटी बहुत अच्छी होगी।

Off page SEO

Off page SEO Kya Hai जैसा कि नाम से हमें यह समझ में आता है। कि हम इस प्रकार के SEO में अपने ब्लॉग पोस्ट पर नहीं उसके बाहर दूसरे वेबसाइट ओं में जाकर अपनी BLOG की लिंक Build या दूसरे शब्दों में कहूँ दूसरी वेबसाइट पर अपने BLOG की लिंक बनाते हैं। जिसे सरल भाषा में कहा जाए तो बैकलिंक्स बनाते हैं, हम हैं यह ध्यान रखना होता है कि हमारी बैकलिंक्स जिस भी वेबसाइट पर हूँ उसकी रेपुटेशन डोमेन अथॉरिटी और क्वालिटी अच्छी हो। अन्यथा इसका बुरा प्रभाव हमारे ब्लॉग की रैंकिंग पर पड़ेगा गूगल यह देखता है। कि हमारे BLOG की कितनी सारी बैकलिंक्स बनी हुई है।

Off page SEO Kya Hai

दोस्तों लेकिन एक बात हमें यह ज़रूर ध्यान रखनी चाहिए ज्यादातर लोग ऑफ पेज ऑप्टिमाइजेशन को सिर्फ़ बैकलिंक्स बनाने के नाम पर ही जानते हैं। लेकिन मैं आपको कुछ ऐसे और भी पॉइंट्स ज़रूर बताऊंगा जो ऑफ पेज ऑप्टिमाइजेशन में बैकलिंक्स की जैसे ही ज़्यादा ज़रूरी हैं। आप यदि शुरुआत में बैकलिंक्स नहीं भी बना पाते पर धीरे-धीरे इन बिंदुओं को करते हुए बैकलिंक्स जनरेट करेंगे। तो आपकी रैंकिंग गूगल में अच्छी होने की पूरी संभावना होगी तो वह बिंदु निम्नलिखित हैं,

  1. सोशल सिग्नल जैसा कि नाम से शो हो रहा है। कि इसमें हम सोशल मीडिया का प्रयोग करते हैं। इस बिंदु में हम अपने ब्लॉग पोस्ट को सभी प्रकार की सोशल मीडिया में शेयर करते हैं। हमें अपने BLOG को ज़्यादा से ज़्यादा मीडिया में शेयर करना चाहिए। यह भी एक प्रकार से गूगल को की रैंकिंग में हमारी वेबसाइट को ऊपर लाने में सहायता करता है। इसीलिए हमें इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि जब भी हम किसी BLOG की पोस्ट लिखें उसे ज़्यादा से ज़्यादा सोशल मीडिया जैसे फ़ेसबुक टि्वटर व्हाट्सएप यूट्यूब इंस्टाग्राम जैसे सभी प्लेटफार्म में ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करना चाहिए। इससे हमारी रैंकिंग में बहुत सुधार होगा।
  1. दूसरा होता है, कि हम अलग-अलग बड़ी-बड़ी वेबसाइट्स जिनमें Question Answer जैसे कि Quora Yahoo Answer जैसी वेबसाइट में जाकर अपने BLOG को शेयर ज़रूर करना चाहिए। परंतु हमें यह ज़रूर ध्यान देना चाहिए कि जब हम इन वेबसाइटों में Question Answer देते हैं तो अपने लिखे हुए BLOG के टॉपिक के हिसाब से और उन्हीं के अनुरूप Question Answer में ही हमें अपने BLOG को शेयर करना चाहिए। और हो सके तो इनमें अपने Question Answer जितना हो सके अच्छे से सुसज्जित ढंग से लिखना चाहिए। यह भी हमारी वेबसाइट की रैंकिंग में सुधार करने में सहायक होता है।
  1. तीसरा महत्त्वपूर्ण बिंदु यह है, कि हमें कुछ वेबसाइटों में जाकर हो सके तो गेस्ट पोस्टिंग ज़रूर करनी चाहिए। इससे हमें बैकलिंक्स मिलने में सहायता होती है, मैं यहाँ पर कुछ ऐसी वेबसाइट है बता रहा हूँ जिन पर आप अपने BLOG को गेस्ट के रूप में लिख सकते हैं। और इनसे आपकी वेबसाइट को बहुत अधिक फायदा होगा गूगल में अच्छी रैंकिंग प्राप्त करने में।

          www.reddit.com

          www.digg.com

          www.tumbler.com

  1. इसके बाद चौथा महत्त्वपूर्ण बिंदु यह है, कि हमें कुछ ऐसी कम्युनिटी या फोरम जैसी वेबसाइटों को तलाश करना चाहिए। उदाहरण के लिए microsoft. com की कम्युनिटी में हमें आगे बढ़ चढ़कर अपने थॉट्स अपने Question Answer को पूछना चाहिए। रिप्लाई देना चाहिए।
  2. परंतु हमें इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कि जब भी हम इस प्रकार के कार्य करते हैं, तो हमें स्पैमिंग नहीं करनी चाहिए स्पैमिंग का मतलब होता है, कि हमें Unnecessary अपने BLOG की लिंक ग़लत तरीके से सिर्फ़ copy paste करना एक प्रकार की स्पैमिंग है। इस प्रकार के कार्य करने से हम इन कम्युनिटी से मैं ब्लैक लिस्ट हो सकते हैं। और हमारी की हुई मेहनत पूरी की पूरी बेकार हो सकती है इसीलिए हमें यह विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए। कि हम जब भी कोई Question Answer देते हैं तो उसमें Unnecessary अपनी लिंक्स Paste नहीं करनी चाहिए।
  1. पांचवा बिंदु जोकि बहुत ही ज़्यादा महत्त्वपूर्ण हैं, हमें अपनी ब्लॉग्स में जब भी इमेज पेस्ट करें, तो उसमें अपनी लिंक स्कोर ज़रूर डालना चाहिए। और फिर उसे अपलोड करना चाहिए। इससे गूगल में सर्च में हमारी इमेज रैंक होने की संभावना अधिक हो जाती है। और यदि हमारी इमेज गूगल इमेज में रैंक होती है। तो हमें वहाँ से डायरेक्ट ट्रैफिक अपनी वेबसाइट के लिए मिलता है।

यदि आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो कमेंट जरूर करे और ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर भी करे और निचे साइड में दिए रेड बेल द्वारा हमें सब्सक्राइब जरूर करे ताकि हमारी लेटेस्ट पोस्ट आपतक सबसे पहले पहुंचे।

This Post Has 13 Comments

  1. gdmehra

    saandar

  2. زيادة المشتركين في اليوتيوب

    I think this is among the so much important information for me.
    And i am glad reading your article. But wanna
    statement on some basic issues, The website taste
    is ideal, the articles is in point of fact excellent
    Good task,

  3. คาสิโนออนไลน์

    If some one desires to be updated with newest technologies after that he must be go
    to see this web site and be up to date everyday.

  4. سعر الذهب

    What’s up Dear, are you truly visiting this website daily, if
    so after that you will without doubt obtain nice know-how.

  5. Hello mates, fastidious article and pleasant arguments commented here,
    I am genuinely enjoying by these.

  6. 카지노

    Whoa! This blog looks exactly like my old one! It’s on a completely different subject but it has pretty much the same layout and design. Superb choice of colors!

  7. slot online

    Howdy excellent blog! Does running a blog similar to this take a great
    deal of work? I’ve absolutely no expertise in programming but I had been hoping to
    start my own blog soon. Anyhow, if you have any ideas or tips for new blog owners please share.
    I know this is off topic nevertheless I just had to ask.
    Appreciate it!

  8. แทงบอลออนไลน์

    Hmm it appears like your site ate my first comment (it was extremely long) so I guess I’ll just sum it up what I submitted and say,
    I’m thoroughly enjoying your blog. I too am an aspiring blog writer but I’m still
    new to the whole thing. Do you have any tips for rookie blog writers?
    I’d genuinely appreciate it.

  9. แทงบอลออนไลน์

    Hey There. I found your blog using msn. This is a very well written article.

    I will be sure to bookmark it and come back to read more of your useful info.
    Thanks for the post. I will certainly return.

Leave a Reply